सहारा इंडिया परिवार: एक सफरनामा, sahara india pariwar

सहारा इंडिया परिवार एक सफरनामा, sahara india pariwar
सहारा इंडिया परिवार एक सफरनामा, sahara india pariwar

सहारा इंडिया परिवार एक प्रसिद्ध भारतीय समूह है जिसकी स्थापना 1978 में सुब्रत राय सहारा द्वारा की गई थी। यह समूह विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत है, जिसमें वित्त, बुनियादी ढांचा और आवास, रियल एस्टेट, खेल, बिजली, विनिर्माण, मीडिया और मनोरंजन, स्वास्थ्य देखभाल, जीवन बीमा, शैक्षणिक संस्थान, ऑफ़लाइन ऑनलाइन शिक्षा (एडुंगुरु), खुदरा, ई-कॉमर्स (ऑनलाइन/ऑफ़लाइन शॉपिंग), इलेक्ट्रिक वाहन (सहारा ईवोल्स), अस्पताल, कृत्रिम बुद्धिमत्ता, आतिथ्य और सहकारी समिति शामिल हैं।

समूह ने अपनी स्थापना के बाद से ही तेजी से प्रगति की है और आज यह भारत के सबसे बड़े समूहों में से एक है। सहारा इंडिया परिवार में 12 लाख से अधिक कर्मचारियों के साथ 5,000 से अधिक प्रतिष्ठान हैं। समूह की उपस्थिति भारत के सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में है।

सहारा इंडिया परिवार अपनी सामाजिक जिम्मेदारियों को भी गंभीरता से लेता है। समूह ने सामाजिक कल्याण और सीएसआर पहलों के लिए अपने कुल लाभ का 25% उपयोग करने का संकल्प लिया है। समूह ने कई सामाजिक कल्याण कार्यक्रम शुरू किए हैं, जिनमें शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल, ग्रामीण विकास और महिला सशक्तिकरण शामिल हैं।

Sahara India Refund Apply Online सहारा इंडिया से रिफंड के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

Sahara India Refund Apply Online: सहारा इंडिया से रिफंड के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

हाल के वर्षों में, सहारा इंडिया परिवार कुछ वित्तीय चुनौतियों का सामना कर रहा है। हालांकि, समूह ने इन चुनौतियों का सामना करने के लिए कई उपाय किए हैं और भविष्य में मजबूत वापसी की उम्मीद है।

सहारा इंडिया परिवार भारतीय अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान देता है और लाखों लोगों के जीवन को बेहतर बनाने में मदद करता है। समूह की सामाजिक जिम्मेदारियों के प्रति प्रतिबद्धता भी सराहनीय है। समूह को भविष्य में और अधिक सफलता प्राप्त करने की उम्मीद है।

सहारा इंडिया रिफंड पोर्टल निवेशकों के लिए अहम अपडेट, sahara india refund portal

सहारा इंडिया रिफंड पोर्टल: निवेशकों के लिए अहम अपडेट, sahara india refund portal

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top